नींबू से बवासीर का इलाज बताइए – Nimbu Se Bawaseer Ka Ilaj

विटामिन सी एक बहुत ही महत्वपूर्ण विटामिन है, जिसका सेवन रोजाना करना पड़ता है, क्योंकि यह शरीर में जमा नहीं होता है। बवासीर होने पर भी विटामिन सी का सेवन करना चाहिए।

नींबू विटामिन सी से भरपूर होता है। इसके कुछ खास फायदे हैं जो आपको बवासीर में मदद कर सकते हैं। तो आज हम जानेंगे कि बवासीर को खत्म करने के लिए नींबू का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए।

बवासीर में नींबू के फायदे

नींबू के उपयोग से बवासीर में निम्न फायदे होते हैं:

  • नींबू बवासीर के मस्सों का दर्द कम करता है
  • बवासीर का सूजन कम करता है
  • जलन और खुजली से भी राहत दिलाता है
  • प्रभावित क्षेत्र की कोशिकाओं को पुनर्जीवित और सक्रिय करता है
  • नींबू में मौजूद विटामिन C बवासीर के आस-पास की त्वचा और रक्त वाहिकाओं में सुधार करता है
  • संक्रमण में लाभदायक
  • नींबू को मौखिक रूप से लेने पर कब्ज नहीं होती, जिससे बवासीर में लाभ मिलता है

नींबू से बवासीर का इलाज

नींबू की मदद से आप बवासीर का इलाज कर सकते हैं। इसके तरीके हैं:

दूध और नींबू 

नींबू दूध के मिश्रण को बवासीर में उपयोग किया जा सकता है। इसे उपयोग करने की विधि नीचे बताई गई है:

  • सबसे पहले दूध को गुनगुना कर लें।
  • अब दूध में थोड़ी मात्रा में नींबू का रस मिलाएं।
  • बिना देरी किए इस मिश्रण को पी लें।

इस तरीके से दूध और नींबू से बवासीर का इलाज किया जा सकता है। दूध और नींबू का मिश्रण आपके पेट में दही का निर्माण करेगा। आमतौर पर इससे शरीर को किसी प्रकार का नुकसान नहीं होता है। हालांकि, बहुत अधिक मात्रा में न पिएँ और पीने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लें।

नींबू पानी

आप नींबू पानी का सेवन कर सकते हैं। नींबू पानी का स्वाद बढ़ाने के लिए थोड़ा सेंधा नमक या उच्च गुणवत्ता वाले सामान्य नमक का उपयोग करें। इसमें कई बेहतरीन एंटी-ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो बवासीर में फायदेमंद हो सकते हैं।

नींबू और सेंधा नमक

एक आधे कटे हुए नींबू के ऊपर एक चुटकी सेंधा नमक छिड़के और चाट जाएं। इस तरह से नींबू का सेवन करने खूनी बवासीर से छुटकारा मिल सकता है। इस नुस्खे को दिन में केवल एक बार आजमाएं।

नींबू का रस

आप नींबू के रस को सीधे बवासीर वाली जगह पर लगा सकते हैं। यह बवासीर के दर्द से राहत देगा और सूजन को कम करने में भी मदद करेगा।

नींबू और शहद

बवासीर से पीड़ित व्यक्ति रात को भोजन करने के बाद इस नुस्खे को आजमा सकता है। खाना खाने के बाद दो चम्मच नींबू के रस में एक चम्मच शहद मिलाकर पीने बवासीर की खुजली दूर होती है। मस्से सूखते हैं और दर्द से भी राहत मिलती है।

नींबू और अदरक

दो चम्मच नींबू के रस में एक चम्मच अदरक का रस मिलाएं और मिश्रण को पी जाएं। ऐसा सुबह, शाम और दोपहर को करें। यह मिश्रण बवासीर को तेजी से खत्म करता है।

नींबू और कत्था

नींबू को दो टुकड़ो में काट दें और दोनों टुकड़ों के ऊपर थोड़ा-थोड़ा कत्था पाउडर छिडकें। अब रात भर के लिए नींबू को खुला छोड़ दें और सुबह उठ कर सेवन करें। इस तरह से नींबू और कत्था का उपयोग करना बवासीर में फायदेमंद हो सकता है। आप कत्था पाउडर की जगह कत्था के पेस्ट का उपयोग भी कर सकते हैं।

बवासीर में नींबू के साइड इफेक्ट

वैसे तो नींबू बवासीर में अत्यंत लाभदायक है, लेकिन कुछ लोगों में यह निम्न साइड इफेक्ट उत्पन्न कर सकता है:

  • यदि आपकी त्वचा बेहद संवेदनशील है तो नींबू के उपयोग से आपकी त्वचा में जलन हो सकती है। यह त्वचा में लालिमा भी ला सकता है।
  • नींबू में ऑक्सलेट पाया जाता है, जिसका अधिक मात्रा में सेवन करने पर पथरी हो सकती है।
  • यदि आपको पेट का अल्सर है तो नींबू का सेवन करने से बचें। इसमें मौजूद एसिड अल्सर की स्थिति बिगाड़ सकता है।
  • नींबू आपके छाती में जलन पैदा कर सकता है, इसलिए खाली पेट इसे बहुत अधिक मात्रा में न खाएं।
  • यदि आपको नींबू या इसमें मौजूद साइट्रिक एसिड से एलर्जी है, तो इसका उपयोग न करें।

निष्कर्ष

ऊपर बताए गए नींबू के घरेलू नुस्खे आपको बवासीर के आकार और दर्द को कम कर सकते हैं। लेकिन अगर दर्द लगातार बढ़ रहा है, तो डॉक्टर से मिलने की सलाह दी जाती है। आपको नींबू का इस्तेमाल करने के अलावा अपनी डाइट पर भी ध्यान देना चाहिए। अपने शरीर को हाइड्रेट रखें। इसमें नींबू-पानी आपकी सबसे ज्यादा मदद करेगा।

नींबू के अलावा और भी बहुत से घरेलू नुस्खे हैं जिन्हें आजमाकर आप बवासीर को ठीक कर सकते हैं। उन्हें जानने के लिए इस पेज के नीचे जाएं।

Scroll to Top