क्या हेपेटाइटिस बी का मरीज शादी और बच्चे पैदा कर सकता है?

हेपेटाइटिस बी एक लिवर इंफेक्शन है जो हेपेटाइटिस बी वायरस (HBV) के कारण होता है। जब कोई व्यक्ति पहली बार हेपेटाइटिस बी वायरस से संक्रमित होता है तो इसे तीव्र संक्रमण (Acute infection) कहते हैं।

लेकिन जब यह वायरस 6 महीने से अधिक समय तक शरीर में रह जाता है तो इसे क्रोनिक संक्रमण कहा जाता है। क्रोनिक हेपेटाइटिस बी का इलाज नहीं किया जा सकता है।

अक्सर क्रोनिक हेपेटाइटिस बी से संक्रमित लोग सवाल करते हैं कि क्या वे शादी कर सकते हैं? और शादी करने के बाद क्या बच्चे पैदा कर सकते हैं?

क्या हेपेटाइटिस बी में व्यक्ति शादी कर सकता है?

जी हां, हेपेटाइटिस बी वायरस से संक्रमित व्यक्ति शादी कर सकता है। लेकिन उसे कुछ सावधानियां बरतने की जरूरत होगी अन्यथा वह अपने साथी को भी यह संक्रमण पहुंचा सकता है।

अगर आप किसी एचबीवी पॉजिटिव व्यक्ति से शादी करते हैं तो उसे साल में एक बार वायरल लोड टेस्ट कराने के लिए कहें। इस टेस्ट की मदद से खून में हेपेटाइटिस बी वायरस डीएनए (DNA) की मात्रा का पता लगाया जा सकता है।

वायरल लोड टेस्ट के अलावा संक्रमित व्यक्ति को साल में दो बार अल्ट्रासोनोग्राफी टेस्ट भी कराना चाहिए। यह परीक्षण लिवर की क्षति की प्रगति को दर्शाता है।

यदि आपने अभी तक हेपेटाइटिस बी वैक्सीन का पूरा डोज नहीं लिया है या किसी कारण के चलते वैक्सीन लगवाने में असमर्थ हैं, तो संक्रमित पार्टनर के साथ असुरक्षित संबंध न बनाएं। सेक्स के दौरान हमेशा अच्छी गुणवत्ता का कंडोम उपयोग करें और शरीर में कहीं घाव या चीरा है तो उसे पट्टी से बांधकर रखें। पार्टनर के साथ टूथब्रश, रेजर, नेल कटर या अन्य नुकीले उपकरण साझा न करें।

हेपेटाइटिस बी वायरस चुंबन लेने, जूठा पानी पीने, जूठा भोजन करने, खांसने या छींकने से नहीं फैलता है। इसलिए आप अपने साथी के साथ ये सब बिना डरे कर सकते हैं।

यदि आपने हेपेटाइटिस बी के टीके की तीन खुराक ले ली है तो संक्रमित पार्टनर से शादी कर सकते हैं और असुरक्षित संबंध भी बना सकते हैं। तीन टीका लेने के बाद आप जिंदगी भर के लिए एचबीवी (HBV) के खतरे से दूर हो जाते हैं।

क्या हेपेटाइटिस बी होने पर बच्चे पैदा कर सकते हैं?

हां, हेपेटाइटिस बी संक्रमण होने के बावजूद आप बच्चे पैदा कर सकते हैं। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि संक्रमण किसे है, महिला को या पुरुष को? यदि पुरुष और महिला दोनों को संक्रमण है तब भी वे बच्चे पैदा कर सकते हैं।

लेकिन एक सवाल उठता है कि क्या यह संक्रमण नवजात शिशु को भी हो सकता है?

हेपेटाइटिस बी संक्रमण जेनेटिक नहीं है। मतलब यह जीन (gene) के माध्यम से बच्चे में नहीं फैलता है लेकिन अन्य तरीकों से फैल सकता है।

बच्चे के जन्म से पहले डॉक्टर को सूचित करें कि आपको हेपेटाइटिस बी है, ताकि वह उचित सावधानी बरत सके और प्रसव (delivery) के दौरान शिशु को संक्रमित होने से बचाने के लिए आवश्यक कदम उठा सके।

नवजात को जन्म के 24 घंटे के भीतर हेपेटाइटिस बी के टीके की पहली खुराक दी जानी चाहिए। ऐसा करने से 90% संभावना है कि बच्चे को हेपेटाइटिस बी संक्रमण नहीं होगा। जब बच्चा 2 महीने का हो जाए तो वैक्सीन की दूसरी डोज और 6 महीने का हो जाए तो तीसरी डोज देनी चाहिए।

यदि नवजात को उसके जन्म के 24 घंटे के भीतर पहला टीका नहीं दिया जाता है, तो उसे संक्रमण से बचाने का कोई दूसरा मौका नहीं बचता है। और यदि ऐसा होता है तो 90% संभावना है कि बच्चे को भविष्य में क्रोनिक हेपेटाइटिस बी संक्रमण हो जाएगा। इसलिए वैक्सीन देना बहुत जरूरी है।

एक बार जब नवजात शिशु को एचबीवी का टीका लग जाता है तो मां स्तनपान भी करा सकती है।

निष्कर्ष

हेपेटाइटिस बी से संक्रमित व्यक्ति शादी कर सकता है और एक खुशहाल जीवन व्यतीत कर सकता है। वह बच्चे भी पैदा कर सकता है। बस कुछ सावधानियां बरतनी चाहिए और समय-समय पर जरूरी मेडिकल जांच कराते रहना चाहिए।

पति और पत्नी को एक दूसरे से वादा करना चाहिए कि वे हमेशा एक स्वस्थ जीवन शैली बनाए रखेंगे। उन्हें यह भी सुनिश्चित करना चाहिए कि वे एक-दूसरे की देखभाल करेंगे और जीवन के हर बुरे और अच्छे दिनों में एक-दूसरे का साथ देंगे।

हेपेटाइटिस बी के बारे में और जानें:

Scroll to Top
echo do_shortcode('[random_link_widget]');