फिटकरी से भी हो सकता है बवासीर का इलाज

फिटकरी (Alum) आमतौर पर पोटेशियम और एल्यूमीनियम का डबल सल्फेट है। एक शोध के मुताबिक फिटकरी बवासीर के खिलाफ एक सुरक्षात्मक ढंग से लड़ता है और इलाज करता है।

फिटकरी का उपयोग मेडिकल मेडिकल क्षेत्र में बहुत अधिक किया जाता है। यह मुख्य रूप से पानी शुद्ध करने के लिए और माउथ फ्रेशनर बनाने में इस्तेमाल होता है। डॉक्टर की सलाह अनुसार बवासीर में फिटकरी का उपयोग आंतरिक या बाहरी दोनों तरीके से कर सकते हैं।

फिटकरी दो रंग की होती है, लाल और सफेद। बवासीर के लिए अधिकतर सफेद रंग की फिटकरी ही उपयोग में लाई जाती है।

बवासीर में फिटकरी के फायदे

बवासीर में फिटकरी का उपयोग निम्न लाभ प्रदान कर सकता है:

एंटीसेप्टिक गुण

फिटकरी में मौजूद एंटीसेप्टिक गुण बवासीर के मस्सों में संक्रमण होने से रोक सकते हैं। यह बैक्टीरिया को खत्म करने में मदद करता है और त्वचा को सड़ने से बचाता है।

ब्लीडिंग रोकता है

फिटकरी में जमाव के गुण होते हैं जो गुदा रक्तस्त्राव को कम कर सकते हैं।

घाव भरता है

फिटकरी घाव को जल्दी भरने में मदद करती है। अगर बवासीर के मस्सों में घाव है और खून बह रहा है तो फिटकरी का बाहरी उपयोग फायदेमंद हो सकता है।

सूजन रोकता है

फिटकर बवासीर के सूजन को कम करके त्वचा को उसके पुरानी स्थिति में ले जाता है। सूजन कम होने के साथ दर्द से भी राहत मिलती है।

कसने के गुण

यह बवासीर के ऊतकों में कसाव का प्रभाव छोड़ता है जिससे मस्सों का आकार छोटा होने लगता है और ब्लीडिंग रुक जाती है।

फिटकरी से बवासीर का इलाज

बवासीर का इलाज करने के लिए फिटकरी को निम्न तरीकों से इस्तेमाल कर सकते हैं:

शहद और फिटकरी

खूनी बवासीर का इलाज करने के लिए एक चम्मच शहद में दो चुटकी फिटकरी (स्फटिका भस्म) मिलाएं और सेवन करें। इस नुस्खे को दिन में दो बार खाना खाने के बाद आजमाएं।

फिटकरी और केला

फिटकरी और केले से बवासीर का इलाज किया जा सकता है। पेट खाली हो जाने के बाद एक केला खाएं और थोड़ी देर बाद फिटकरी एवं शहद का सेवन करें। यह नुस्खा कब्ज दूर करता है और खूनी बवासीर की नसों को शांत करता है।

पानी और फिटकरी

  • एक गिलास गुनगुना पानी में 2-3 चुटकी फिटकरी का पाउडर मिलाएं। इस पानी को सूती कपडे या रुई के माध्यम से बवासीर के मस्सों पर लगाएं। इस प्रक्रिया को दिन में लगभग 3 बार करने पर बवासीर से राहत मिलती है।
  • फिटकरी का एक छोटा टुकड़ा लें और पानी में भिगोकर गीला कर लें। अब धीरे-धीरे इस टुकड़े को बवासीर के ऊपर चलाएं।
  • आधा लीटर पानी में तीन या चार चमच्च फिटकरी का पाउडर मिलाएं और 15 मिनट तक उबालें। ठंडा हो जाने के बाद इस पानी को बवासीर के मस्सों पर अप्लाई करें।
  • बाथ टब में 20 ग्राम फिटकरी पीसकर मिलाएं और 2 इंच तक गुदा क्षेत्र को पानी में रखें। इसे आप फिटकरी युक्त सिट्ज़ बाथ कह सकते है।

नारियल का तेल और फिटकरी

  • दो चुटकी फिटकरी पाउडर में नारियल का तेल मिलाएं और मस्सों पर लगाएं।
  • फिटकरी के टुकड़े में नारियल का तेल लगाकर बवासीर के मस्सों पर धीमी गति से रगड़ें।

फिटकरी और हल्दी

दो चुटकी फिटकरी पाउडर में एक चुटकी हल्दी और खीरा का रस मिलाएं। सुबह-शाम इस मिश्रण को बवासीर के मस्सों पर लगाएं।

दही और फिटकरी

लगभग 1-2 ग्राम सफेद फिटकरी पाउडर को दही में मिलाकर खाने से बवासीर के लक्षण कम हो सकते हैं। इस उपाय को लगातार सात दिन तक आजमाना चाहिए। स्वाद के लिए दही में हल्का नमक भी मिला सकते हैं।

फिटकरी और मक्खन

10 ग्राम मक्खन में 5 ग्राम फिटकरी को पीसकर मिलाएं और बवासीर के ऊपर लगाएं। यह नुस्खा मस्सों को संकुचित करके ब्लीडिंग रोकता है।

फिटकरी का इंजेक्शन

फिटकरी (पोटेशियम एल्युमिनियम सल्फेट) को टैनिक एसिड के साथ मिलाकर बवासीर में डाला जाता है। इससे रक्त वाहिकाएं सिकुड़ने लगती हैं। खून का प्रवाह कम होता है और बवासीर के मस्से सूखकर गिर जाते हैं।

बवासीर के लिए फिटकरी के इंजेक्शन का उपयोग चिकित्सक द्वारा किया जाता है।

बवासीर में फिटकरी के साइड इफेक्ट

बहुत अधिक मात्रा में फिटकरी का सेवन करने या बवासीर पर लगाने से निम्न साइड इफेक्ट देखने को मिल सकते हैं:

  • त्वचा में सूजन
  • जलन
  • चुभन
  • त्वचा में छोटे-छोटे छाले
  • सांस लेने में कठिनाई (अधिक मात्रा में खा लेने पर)

निष्कर्ष

आयुर्वेद के अनुसार फिटकरी का सेवन भस्म के रूप में किया जाना चाहिए। आवश्यकता अनुसार फिटकरी ली जाती है और कड़ाही में डालकर गर्म की जाती है। पानी वाष्पित हो जाने के बाद एक सफेद पाउडर बचता है जिसे स्फटिक भस्म कहते हैं। बवासीर में इसी भस्म का सेवन फायदेमंद होता है।

बवासीर के मस्सों में फिटकरी का उपयोग पूरी तरह से सुरक्षित है। किसी व्यक्ति को इससे एलर्जी है तो वो उपयोग न करे।

गर्भवती या स्तनपान कराने वाली महिलाओं को फिटकरी के सेवन से बचना चहिए। इसका उपयोग करने से पहले चिकित्सक की सहमति लें।

Scroll to Top